Tuesday, September 29, 2009

अभिनन्दन ब्लॉगवाणी






घर घर कलश सजाओ री,
मंगल गाओ री,
दीप जलाओ री ,
चौक पुराओ री ,

कोयल कूके मधुर वाणी

झूमे गाएँ सकल नर नारी
मनाओ दीवाली कि घर आई ब्लॉगवाणी...


अभिनन्दन ब्लॉगवाणी

18 comments:

जी.के. अवधिया said...

गम छोड़ के मनाओ रंगरेली ...

देर आयद दुरुस्त आयद।

धन्यवाद ब्लॉगवाणी!!!

वाणी गीत said...

ब्लॉग जगत में मन गयी दिवाली
अभिनन्दन ब्लोगवाणी ..!!

अविनाश वाचस्पति said...

लो जी हमारे मन की कर दी
ब्‍लॉगवाणी दीवाली खुशियों से
दीपों से जगमगाहट से भर दी

Arvind Mishra said...

आहा हा ! यहाँ तो फुलझडियां भी हैं ! हाँ सचमुच लौट आयी ब्लॉग की वाणी !

एकलव्य said...

ख़ुशी की ब्लागवाणी चालू हो जाने की आपको और ब्लागवाणी को संचालको को शुभकामनाये .

Dr. Mahesh Sinha said...

अभिनन्दन

RAJNISH PARIHAR said...

सच में आपने बलोग्वानी की वापसी सही जश्न मनाया है..अभिनन्दन!!!!

Pankaj Mishra said...

मीनू जी मुझे तो आज सब पता चला दो दिन ब्लागजगत से दूर क्या रहा बहुत कुछ हो गया

ओम आर्य said...

बिल्कुल शी तरीके से ब्लोगवानी का स्वागत करी है आपने ..........अभिनन्दन!

वन्दना अवस्थी दुबे said...

मौन के बाद अब मुखर है ब्लौगवाणी.सुन्दर.

Udan Tashtari said...

ब्लॉगवाणी की वापसी अति सुखद है.

मैथिलीजी और सिरिलजी का हार्दिक आभार.

दर्पण साह "दर्शन" said...

meri tarf se bhi blogvali ko naye avtaar hetu shubhkaamnaiyen !!

Shefali Pande said...

vaapsee behad sukhad hai....

सतीश सक्सेना said...

शुभकामनायें !

मीनू खरे said...

"घर घर कलश सजाओ री,
मंगल गाओ री,
दीप जलाओ री ,
चौक पुराओ री ,

कोयल कूके मधुर वाणी

झूमे गाएँ सकल नर नारी
मनाओ दीवाली कि घर आई ब्लॉगवाणी... "




मेरे इस गीत के जवाब में आदरणीय मैथिली जी का यह सन्देश ईमेल के माध्यम से प्राप्त हुआ---



"धन्यवाद मीनू जी

आपके इस कमेन्ट से तो हमें शर्मिंदगी का अहसास हो रहा है,
हमें ब्लागवाणी बन्द करने का कैसा भी हक नहीं था. यह एक गलती थी. आभार आपका कि आपने हमें गलती सुधारने पर विवश किया.

मैथिली"




धन्यवाद मैथिली जी, आपका मेल पाकर बहुत अच्छा लगा. हम् ब्लॉगरों और इस अनमोल एग्रीगेटर के बीच आप हमेशा इसी तरह स्नेह सेतु बने रहें.

शुभकामनाएँ और धन्यवाद,

मीनू खरे

naveentyagi said...

deewaali se pahle blogvaani vapas aayi.patakhe chhode fool-jhadiya jalaao bhai.

दिगम्बर नासवा said...

SWAGAT HAI BLOGVAANI KA .....

संजय भास्कर said...

ब्लॉगवाणी की वापसी अति सुखद है.


SANJAY KUMAR
HARYANA
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails