Thursday, August 06, 2009

सलाह

सलाह


क्या

आँगन का बल्ब

फ्यूज़ हो गया है ?



पिछवाडे

एक पिता,

अपनी बिटिया की तारीफें

लोगों से कर रहा है,



उसकी आँखों की चमक

उधार माँग ले ...



काम भर की रौशनी

आराम से मिल जायेगी

आँगन में .

19 comments:

M VERMA said...

बहुत गहराई तक उतरते है आपके शब्द.
बेहतरीन

ओम आर्य said...

bahut hi sundar abhiwyakti ...badhaaee

Nirmla Kapila said...

वाह बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति है बधाई

‘नज़र’ said...

आपकी कविता से आश्चर्य चकित हो जाता हूँ
---
'विज्ञान' पर पढ़िए: शैवाल ही भविष्य का ईंधन है!

अर्चना तिवारी said...

सुन्दर अभिव्यक्ति...

Mahesh Sinha said...

कोई लो वाटेज बल्ब वाला आपकी कविता चुरा न ले :)

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

"उसकी आँखों की चमक" एकदम सच कहा!

Meenu khare said...

चिंता न कीजिये महेश जी उससे पहले ही मै अपनी कविता पेटेंट करवा लूंगी.

शुभेच्छा,
मीनू खरे

Ram Shiv Murti Yadav said...

Pratikatmak rup men kahi behad khubsurat kavita..badhai !!

अर्शिया अली said...

Aabhaar.
{ Treasurer-T & S }

Arvind Mishra said...

अद्भुत उपमा !

ashakashi said...

दिल को छू लेने वाले शब्दों को कैसे इतनी निपुणता के साथ बुन लेती हैं आप?...


वल्लभ
http://puranidayari.blogspot.com/

Priya said...

कुछ नहीं और बहुत कुछ है....... गहरी सोच....

Anonymous said...

कुछ नहीं और बहुत कुछ है....... गहरी सोच....

दिगम्बर नासवा said...

गहराई तक जाते आपके दिल को छूने वाले शब्द ....मोन हूँ आपकी कलम की शक्ति देख कर

Mera Akash said...

Dear Meenu Didi, aaj achanak hi blog ki duniya mei vicharte huye ek naam dikhayi diya. MEENU KHARE aur mei thithak kar ruk gayi ...! yakinan ye aap hi thi. mujhe pata hai , aapke liye mei utni parichit nahi jitnee aap mere liye hai. phir bhi aapka yaad dila duin, shayaad yaad aa jaye...! bahut saal pahle mai AIR VARANASI me casual announcer select hui thi aur mere shuruati dino ki training me jin logo ne mujhe sikhaya tha , unme ek aap bhi thi.varun sir aur kishore bhaiya ke saath... !
aaj apka blog pada to baat karne ko ji chaha . kaisi hai didi ...?

Pratima Sinha from MERA AKASH ... !

mehek said...

sunder abhivyakti

अनवारुल हसन [VOICE PRODUCTION] said...

कविता में कमाल की चकाचौंध है... पर ये आपके लिए नई बात नहीं.. हम तो सदियों से इस चमक के क़ायल हैं

poemsnpuja said...

behad kam shabdon ki ek bahut pyari chamkili sajili rachna...bahut acchi lagi.

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails