Wednesday, July 12, 2017

अमरनाथ हमला: कुछ हाइकु






(1)
 ट्रिगर दबे
हरे से लाल हुआ
फिर सावन।

(2)

किसने किया?
रक्त से अभिषेक
आशुतोष का.

(3)

खूनी बौछार
पानी पानी हो गई
कश्मीरियत.
(4)

चारो दिशाएँ
लाल हुई हे! शिव
त्रिनेत्र खोलो.

(5)

हमारी माँग
माफ़ नहीं साफ़ हों
अब आतंकी।

1 comment:

ताऊ रामपुरिया said...

सामयिक हाईकू।
रामराम
#हिन्दी_ब्लॉगिंग

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails