Tuesday, January 04, 2011

Who says Maths is easy?


[Courtesy: Funzu.com]



साथियों यह पोस्ट मेरी नही है ना ही मैंने यह अपने ब्लॉग पर लगाई है.अभी अभी मेल बॉक्स में आप लोगों के कमेंट्स देखा तो इस पोस्ट के बारे में पता चला.मैंने सोचा की हैकिंग का कोई चक्कर हो गया है.पर तभी मेरी फ्रेंड का बेटा जो मेरे घर आया था, लगातार हँसने लगा.काफी पूछताछ के बाद पता चला की यह हरकत उन महाशय की है.मेरा लैपटॉप ऑन देख कर उन्हें एक पोस्ट पब्लिश करने की सूझी और मेरे हिंदी ब्लॉग पर उन्होंने यह अंग्रेजी पोस्ट छाप दी.गुस्सा भी आया .मेरी फ्रेंड बहुत नाराज़ भी हुई उस पर.पर बेटा इतनी मासूमियत से सब सुनता रहा फिर बोला मुझे मैथ्स अच्छी नही लगती इसीसे मैंने यह किया. मुझे बहुत तरस आई.सोचा की पोस्ट डिलीट कर दूँ पर फिर लगा की एक बच्चा मैथ्स से इस कदर डरता है तो यह हम सब अभिभावक और शिक्षकों के सोचने का विषय है जिस पर हमारा चिंतन और कार्यवाही वांछित है.मैं बच्चे द्वारा पब्लिश इस पोस्ट को डिलीट नही कर रही.आप सबके कमेंट्स का इंतज़ार रहेगा....

13 comments:

शिवम् मिश्रा said...

मीनू दीदी ,

बाई गोड की कसम ... हम ऐसा कुछ भी नहीं बोले !!

आपको और परिवार में सभी को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं !

प्रवीण पाण्डेय said...

a-b तो 0 हो गया। 0/0 तो परिभाषित ही नहीं है।

Arvind Mishra said...

प्रेमचंद कहते थे-गणित उन्हें हिमालय की उन्चाई लगती थी मगर मुझे तो यह सागर की गहराई लगती है ! :)
अब देखिये न क्या उल जलूल लिखा है -किससे किसकी बराबरी दिखाई जा रही है -घोर अतार्किक ! छिः !

Meenu Khare said...

साथियों यह पोस्ट मेरी नही है ना ही मैंने इसे अपने ब्लॉग पर लगाई है.अभी अभी मेल बॉक्स में आप लोगों के कमेंट्स देखा तो इस पोस्ट के बारे में पता चला.मैंने सोचा की हैकिंग का कोई चक्कर हो गया है.पर तभी मेरी फ्रेंड का बेटा जो मेरे घर आया था, लगातार हँसने लगा.काफी पूछताछ के बाद पता चला की यह हरकत उन महाशय की है.मेरा लैपटॉप ऑन देख कर उन्हें एक पोस्ट पब्लिश करने की सूझी और मेरे हिंदी ब्लॉग पर उन्होंने यह अंग्रेजी पोस्ट छाप दी.गुस्सा भी आया .मेरी फ्रेंड बहुत नाराज़ भी हुई उस पर.पर बेटा इतनी मासूमियत से सब सुनता रहा फिर बोला मुझे मैथ्स अच्छी नही लगती इसीसे मैंने यह किया. मुझे बहुत तरस आई.सोचा की पोस्ट डिलीट कर दूँ पर फिर लगा की एक बच्चा मैथ्स से इस कदर डरता है तो यह हम सब अभिभावक और शिक्षकों के सोचने का विषय है जिस पर हमारा चिंतन और कार्यवाही वांछित है.मैं बच्चे द्वारा पब्लिश इस पोस्ट को डिलीट नही कर रही.आप सबके कमेंट्स का इंतज़ार रहेगा.

प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI said...

Algebra is concerning the study of the rules of operations and relations.


सामान्य रूप से इस चित्र में दिखाई देने वाला जोड़ घटाना आश्चर्य चकित कर सकता है किसी भी आम जन को !.....पर मुझे तो लगता है वह बच्चा बड़ा इंटेलिजेंट होगा !

बकिया तो यह गणित का कुतर्क दर्शाया गया है चित्र में ...........प्रवीण जी गलती की ओर इंगित कर चुके हैं | इसमें दो दो बार से ज्यादा बीजगणितीय संक्रियाओं का उल्लंघन किया गया है |

प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI said...

कभी हमने भी अपने ब्लॉग में भी गणित पर ठेल
और रिठेल किया था |

sada said...

आपने अच्‍छा ही किया जो इसे हटाया नहीं ...।

राजेश उत्‍साही said...

बात कहने का अंदाज पसंद आया। बहरहाल गणित से तो अपन भी डरते हैं।

यशवन्त माथुर said...

जहाँ तक उस छोटे बच्चे द्वारा पब्लिश इस चित्र की बात है निश्चित ही गणित बहुतों को रुलाता है और बहुत से बच्चे गणित में बहुत रूचि भी रखते हैं.
अच्छा किया जो आपने इस पोस्ट को डिलीट नहीं किया.और वास्तव में जब शिक्षा के सरलीकरण की बात हो रही है यह वक़्त है जब स्कूलों में गणित जैसे विषय को रोचकता के साथ पढ़ाया जाय.आज बहुत सी ऎसी ट्रिक्स उपलब्ध हैं जो गणित विषय को बच्चों के लिए Enjoyable बना सकती हैं.इन्हें प्राथमिक स्तर से ही दैनिक शिक्षण का अनिवार्य अंग बनाये जाने पर भी विचार किया जाना चाहिए.

राज भाटिय़ा said...

हमे बुरी तो नही लगी, लेकिन जब भी कोई दोस्त या सहेली अपने परिवार के संग घर आये तो उन के बच्चो को ऎसा कभी नही करना चाहिये, हमे यह पोस्ट बुरी नही लगी लेकिन उस बच्चे की हरकत बुरी लगी, अगर आप इसे यहां लगी रहने देगी तो वो बच्चा आगे से ओर ज्यादा ऎसी हरकते करेगा, इस मे आप का कसूर नही उस के मां बाप को चाहिये कि बच्चे को समझाये कि ऎसा नही करते, किसी की चीज बिना पुछे कभी भी नही छॆडते
लेकिन अब इसे ना हटाये, लेकिन बच्चे को समझा दे कभी आईंदा ऎसा ना करे, हमारे यहां भी ऎसे बच्चे आये, अब हम उन पर ध्यान रखते हे, क्योकि उन की शरारतो से हमारा सिस्टम ही खराब हो गया था, अगर मेरी बात बुरी लगे तो चाहे इस टिपण्णी को हटा दे

Meenu Khare said...

राज साहब आपकी टिप्पणी बहुत महत्वपूर्ण बात की ओर इशारा कर रही है.इस पर ध्यान दिया जाना चाहिए. कुछ लोग अपने बच्चे को किसी की चीज़ छूने से कभी नही रोकते भले ही कितना नुकसान हो जाए.

निर्मला कपिला said...

हम तो पहले ही नालायक बच्चे हैं । लेकिन पोस्ट फिर भी अच्छे लगी। अब धन्यवाद आपको दें कि उस बच्चे को? चलो आपस मे बाँट लेना। धन्यवाद बधाईयाँ शुभकामनायें आशीर्वाद। सब कुछ मगर इसी फार्मूले से।।

अल्पना वर्मा said...

इसे देख कर तो मुझे भी हंसी आई..अच्छी शुरुआत हुई नए साल की पहली पोस्ट मज़ेदार है!

डिलीट न करें..

आप का सोचना भी सही है..बहुत से छात्रों को गणित से डर लगता है.विषय को रुचिकर बनने की ज़रूरत है.

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails